आखिर क्यूँ एलोपैथिक उपचार की अपेक्षा आयुर्वेदिक उपचार ज्यादा अच्छा है यहाँ जाने

आयुर्वेदिक तरीके से किये गए उपचार और एलोपैथिक तरीके से किये गये उपचार में सबसे बड़ा अंतर ये है कि आयुर्वेदिक तरीके से किया गया उपचार हमेशा के लिए रोग को जड़ से मुक्त कर देता है जबकि एलोपैथिक उपचार से जब तक दवाओं का असर रहता है तब तक रोगी ठीक रहता है और जब दवा का असर ख़त्म तो फिर से रोग पनपने लगता है इसीलिए आयुर्वेदिक उपचार  को ही सर्वोत्तम माना गया है|

हमारे यहाँ राठी आयुर्वेदिक सेंटर में डॉ नरेन्द्र राठी बताते हैं बहुत सारे लोग ऐसे चिकित्सक के पास परामर्श लेने लगते हैं जिन्हें ज्यादा अनुभव नहीं होता और कई सारी दवाओं की आजमाइश खुद वो मरीज पर करते हैं जिससे मरीज पर साइड इफ़ेक्ट होने की सबसे ज्यादा सम्भावना रहती है और बहुत सारे पैसे खर्च करने के बाद भी उन्हें कोई आराम नहीं पहुँचता है स्वास्थ्य के साथ साथ वो अपना समय भी व्यर्थ करते हैं और लोगों की सुनी सुने बातों पर विश्वास करने लगते हैं कि ये तो लाइलाज बीमारी है | डॉ नरेन्द्र राठी के पास २० साल का अनुभव है और अबतक हजार से ज्यादा मरीज ठीक कर चुके हैं राठी सर बताते हैं कि इसका सिर्फ और सिर्फ एक मात्र इलाज आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट ही है हमारे यहाँ परामर्श लेना बिलकुल निःशुल्क है और रोगी के कल्याण के लिए हम यहाँ वर्क करते हैं जिससे बहुत सारी जगहों से परेशान लोगों की समस्याओं का निदान हो सके |

Book an Appointment

    Leave a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Call Now Button